राजनीति

नीतीश ने दी खुली चूनौती, हिम्मत है तो पार्टी को तोड़ कर दिखाएँ

बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जब से बीजेपी  के साथ मिलकर सरकार बनाई है तब से नीतीश कुमार के सबसे करीबी माने जा रहे शरद यादव ने बगावती सुर अख्तियार कर लिया है । शरद यादव ने एक सम्मेलन में बोलते हुए आरोप लगाया कि जिस जनता दल परिवार को उन्होंने बनाया था आज उसी पार्टी से उन्हें निकालने की कोशिश की जा रही है। साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि नीतीश कुमार उन्हें पार्टी से निकाल कर बेघर करना चाहतें हैं ।

जारी रहेगा महागठबंधन

सम्मेलन के दौरान बोलते हुए शरद यादव ने कहा कि जिस NDA के साथ मिलकर नीतीश कुमार ने महागठबंधन को तोड़ने की कोशिश की है

इसे भी पढ़ें: नीतीश के इस एक गलती से टूट गई 13 साल पुरानी दोस्ती

वह पूरी तरह से अनैतिक है और वो इस अनैतिक को बिल्कुल भी बर्दाश नही करेंगे। साथ ही उन्होंने ने यह भी कहा कि बीजेपी के साथ जाकर नीतीश कुमार ने अपनी राह भले ही अलग कर लिए हों लेकिन उनकी खुद की राह वही है वह जब से महागठबंधन बनी है तब से उसके साथ हैं नीतीश के महागठबंधन से अलग होने के बावजूद भी वो कोशिश कर रहे हैं कि राष्ट्रीय  स्तर पर फिर से एक बार 2019 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए एक महागठबंधन बना सकें

हमलावर हुए नीतीश

वहीं नीतीश कुमार ने अपने आवास पर जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठकबुलाई थी  बैठक के बाद राष्ट्रीय परिषद के नेताओ को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने शरद यादव पर एक के बाद एक बड़े हमले किये।  नीतीश ने कुमार ने शरद यादव को खुली चुनौती दी है कि अगर उनमे हिम्मत है तो वो पार्टी को तोड़ कर दिखएँ और नीतीश कुमार यहीं नही रुके उन्होंने कहा कि उनके पास 71 विधायक,30 विधानपार्षद और 2 लोकसभा सदस्य की समर्थन है । साथ ही उन्होंने ने यह भी कहा कि जिस बीजेपी के बदौलत वो राज्यसभा पहुंचे आज वे उसी के खिलाफ आवाज़ उठा रहे हैं

45 total views, 1 views today

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://thenationfirst.in

Leave a Reply