खेल

इंग्लैंड को उसी के घर में रौंदकर भारतीय महिलाओं का धमाकेदार आगाज

घर भी तुम्हारा होगा, मैदान भी तुम्हारा होगा, लोग भी तुम्हारे होंगे, लेकिन हारोगे भी तुम हीं’ यह कोई फिल्मी डायलॉग जरूर लग रहा है लेकिन भारतीय महिला क्रिकेट टीम नें इंग्लैंड को उसी के घर में 35 रनों से हराकर इसे 100 प्रतिशत साबित कर दिखाया है|

विश्वकप के पहले दिन, वो भी मेजबान टीम से भिड़ना.. और तो और, टॉस हारकर पहले बैटिंग करना किसी बुरे सपने जैसा लगता है| लेकिन मिताली की गैंग तो मानों एक हीं लक्ष्य लेकर आयी है, विश्वविजय का, चाहे रास्ते में कोई भी पड़े| इंग्लिश कप्तान हीदर नाईट नें टॉस जीतकर भारत को ये सोंचकर पहले बैटिंग को बुलाया की, हमेशा स्पिन पिच पर खेलने के आदी भारतीय बल्लेबाज अन्या श्रबसोले, कैथरीन ब्रंट, जैमी गन, स्काइबर की पेस चौकड़ी का सामना नहीं कर पायेंगे|

लेकिन ओपनिंग करने उतरी लंबे समय बाद वापसी कर रही स्मृति मंधाना और पूनम राऊत नें सभी गेंदबाजों की जमकर खबर ली|स्मृति एक तरफ जहाँ विस्फोटक खेल दिखा रही थीं, वहीं पूनम संयम के साथ अपने पार्टनर का साथ दे रही थी|चौथे ओवर में कैथरीन ब्रंट को लगातार चार चौके जड़कर मंधाना नें अपने इरादे साफ कर दिए|

भारत नें पहले पावरप्ले में 59 रन बनाये|चौके के साथ पचास पूरा करने के बाद मंधाना नें अपने तेवर और कड़े कर लिए| 23वें ओवर में भारत नें बैटिंग पावरप्ले लिया|पावरप्ले के पहले हीं ओवर में श्रबसोले को दोनों बैटिसमैन नें 20 रन ठोक डाले|26वें ओवर में हीदर नाईट की गेंद पर कवर पर आउट होने से पहले मंधाना नें 72गेंदो में 11 चौके और दो छक्के की मदद से 90 रन बनाये|हेजल नें कैच कर इस 144 रनों की ओपनिंग साझेदारी को तोड़ा|उसके बाद आयीं कप्तान मिताली राज नें भी जबर्दस्त बैटिंग की और पूनम का अच्छा साथ दिया|222 रन के कुल स्कोर पर राऊत 86 रन बनाकर हेजल का शिकार बनी|

अंतिम गेंद पर आउट होनें से पहले मिताली ने 71 रनों की बेहतरीन पारी खेली जिसमें हरमनप्रीत कौर नें 22 गेंद में नाबाद 24 रन बनाकर उनका भरपूर साथ दिया|भारत नें 50 ओवर में तीन विकेट पर 281 रन बनाए|हीदर को 2 जबकि हेजल को एक विकेट मिला| 282 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लिश टीम दबाव में नजर आ रही थी|ओपनर टैमी ब्यूमोंट(14) और सराह टेलर (22) को शिकार बनाकर शिखा पांडे नें तगड़ा झटका दिया| स्काईबर 18 रन बनाकर दीप्ति शर्मा की गेंद पर डीआरएस का शिकार बनी|

विकेटकीपर सुषमा वर्मा द्वारा पकड़े गए कैच को अंपायर नें नकार दिया लेकिन दीप्ति नें कप्तान मिताली को कहकर महिला क्रिकेट इतिहास का पहला डीआरएस लिया जो सफल भी हुआ|

भारतीय टीम के शानदार फील्डिंग का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि टीम नें चार रन आऊट किए|कप्तान हीदर नाईट को 46 रन के निजी स्कोर पर हरमनप्रीत नें रन आउट किया|वहीं दीप्ति शर्मा नें कैथरीन ब्रंट(24) को, जबकि फ्रैन विल्सन(86)  को एकता बिष्ट नें ऐसे समय में रनआउट किया जब लग रहा था कि ये दोनों पासा पलट सकते हैं|जेमी गन,  मोना मेशराम और सुषमा वर्मा के मिलीजुली प्रयास से चलती बनी|अन्या श्रबसोले को दीप्ति शर्मा की गेंद पर सबस्टिटियूट वेदा कृष्णामूर्ति नें जबर्दस्त कैच लपककर  टीम को 35 रनों से जीत दिलाई|

मिताली राज नें अर्द्धशतक जड़कर दो रिकॉर्ड बनाए| यह लगातार उनकी 7वीं हाफसेंचुरी थी , जो एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है|इसके साथ हीं यह उनकी ओवरऑल 47वीं हाफसेंचुरी थी| इसके बाद वे चार्लट एडवर्ड्स को पीछे छोड़ सबसे ज्यादा अर्द्धशतक लगाने वाली खिलाड़ी बन गयीं है|भारत की यह लगातार 17वीं जीत है| स्मृति मंधाना को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया|भारत अपना अगला मैच वेस्टइंडीज से टॉंटन में 29 जून को खेलेगा|

इससे पहले, कप्तान सूजी बेट्स के नाबाद शतक और उनकी एमी सैदरवेट(78) के साथ 177 रनों की नाबाद साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड नें पहले मैच में श्रीलंका को 9 विकेट से हराकर आसान जीत दर्ज की|

Facebook Comments
Ankush Kumar Ashu
Alrounder, A pure Indian, Young Journalist, Sports lover, Sports and political commentator
http://thenationfrst.in

Leave a Reply