देश

छात्रवृति घोटाले में फसें तत्कालीन सचिव एमएम राजू

बिहार में लगातार घोटालों का खुलासा हो रहा है। चारा घोटाला के बाद अब छात्रवृति घोटाले का मामला सामने आया । मेडिकल ,इंजीनियरिंग एवं अन्य छात्र को मिलने वाला छात्रवृति का पैसा अधिकारीयों के लग्जरी जीवन जीने का काम आ रहा है । छात्रों के पैसे से अधिकारी बिहार के कई जिलों में फ्लैट एवं गाड़ियां खरीद रहे है ।

दरअसल यह मामला 2013 ―14 का है जिसमे अनुसूचित जाति जनजाति के प्रवेश परीक्षा से सम्बंधित है । निगरानी विभाग ने इसकी जांच मार्च 2014 में शुरू किया था जिसमे पाया गया कि विसखापत्नम की गोंना इंस्टिट्यूट ऑफ़ साइंस टेकोनोलोजी के 25 छात्र को गलत तरीके से छात्रवृति दी गई है इस जाँच में ये भी साफ़ हो गया है कि जो 15 छात्र कॉलेज छोड़ कर चेले गये हैं उन्हें भी पैसे का भुगतान किया गया । इस घोटाले में गुंटूर अभियंत्रण कॉलेज के निर्देशक के नाम के साथ साथ वरीय आईएस और तत्कालीन सचिव एमएम राजू के साथ 16 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है ।

 

114 total views, 2 views today

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://thenationfirst.in

Leave a Reply