देश राजनीति

पीएम बनने से पहले मोदी कर चुके हैं ये बड़ा काम

वैसे तो इस देश ने कई बड़े-बड़े प्रधानमंत्री दिए हैं जिन्होंने देश हित मे सोचा और देश की गरिमा को बनाये रखने के लिए अथक प्रयास किये लेकिन जब बात नरेंद्र मोदी की आती है तो जेहन में एक ही ख्याल आता है और ये की नरेंद्र मोदी जितने लोकप्रिय प्रधानमंत्री  देश को इस से पहले नही मिला ।

जब देश मे 2014 के लोकसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने नरेंद्र मोदी को अपना प्रधानमंत्री उम्मीदवार घोषित किया तब ऐसा लग रहा था कि पूरा देश मोदीमय हो गया है और लगभग देश की 80 प्रतिशत जनता ये चाहती थी की नरेंद्र मोदी ही देश के प्रधानमंत्री बने और ऐसा हुआ भी । पहली बार देश में नरेंद्र मोदी को चेहरा बना कर बीजेपी ने 282 सीटों के साथ फूल मेजोरिटी की सरकार बनाई ।

वहीं देश मे अब मोदी लहर इतना अधिक हो चुका है कि 2014 से लेकर 2017 तक देश के 17 राज्यों में बीजेपी की सरकार है और बीजेपी तब से लेकर आज तक नरेंद्र मोदी को हर चुनाव में आगे कर एक नई इबादत लिखने में सफल हुई है और इसका जीता जागता उदाहरण है उत्तर प्रदेश ।

नरेन्द्र मोदी का जीवन परिचय

नरेंद्र मोदी का जन्म गुजरात के वदनगर में 17 सितम्बर 1950 को हुआ था इनके पिता का नाम दामोदर दास मूलचंद और माता का नाम हीरा बेन है । नरेंद्र मोदी कुल 6 भाई-बहन थे। बचपन में नरेंद्र मोदी अपने पिता के साथ रेलवे स्टेशन पर चाय का स्टॉल लगाया करते थे । 13 वर्ष की उम्र में नरेंद्र मोदी की सगाई जसोदा बेन चमनलाल के साथ हुई और 17 वर्ष की आयु मे इन्हें वैवाहिक बंधन में बांध दिया गया ।

कहा जाता है कि नरेंद्र मोदी कुछ सालों तक जसोदा बेन के साथ रहे लेकिन कुछ सालों के बाद दोनों अलग हो गए परंतु मोदी के जीवनी लेख मे ऐसी कोई चर्चा नही है। उस लेख में कहा गया है कि उन दोनों की शादी ज़रूर हुई लेकिन वे कभी एक साथ नही रहे । और अगर बात इनके शिक्षा की करें तो इनका शिक्षा में कुछ खास रुचि नही थी लेकिन बचपन से ही इनसे  तर्क में कोई जीत नही पता था। नरेंद्र मोदी ने गांव के स्थानीय स्कूल से पढ़ाई पूरी करने के बाद राजनीतिक शास्त्र से बीए किया ।

नरेन्द्र मोदी की राजनीतिक योगदान

जब नरेंद्र मोदी महज 8 साल के थे तभी आरएसएस से जुड़े थे और बीए करने के बाद मोदी संघ के प्रचारक के रूप में काम करने लगे लेकिन उनकी योग्यता और निष्ठा धीरे-धीरे रंग लाने लगी और उसी बीच आयोध्या कांड में लालकृष्ण आडवाणी के साथ इनका नाम भी जोरा गया और फिर उसके बाद मुरली मनोहर जोशी का रथ यात्रा कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक नरेंद्र मोदी की देखरेख में आयोजित की गई ।

उसके बाद मोदी को दिल्ली बुला कर भाजपा में संगठन की एक उम्दा कार्यकरता की दृष्टि से राष्ट्रीय मंत्री के रूप में दायित्व सौंपा गया । फिर 1995 में राष्ट्रीय मंत्री के नाते 5 राज्यों में पार्टी संगठन का काम दिया गया जिसे उन्होंने बखूबी निभाया और 1997 में संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री बना दिया गया जिस पर 2001 तक काम करते रहे ।

और फिर 2001 में हीं भारतीय जनता पार्टी ने केशुभाई पटेल को हटा कर नरेन्द्र मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री घोषित किया और 2001 से लेकर 2014 तक गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में काम करते रहे और इसी बीच 2002 मे गुजरात मे एक बहुत बड़ी घटना घटती है जिसे गोधड़ा कांड के नाम से जाना जाता है जिसमे नरेन्द्र मोदी के नाम को काफी जोड़ों से हवा दी गई  । और फिर  नरेंद्र मोदी के जीवनकाल मे एक नई इबादत लिखने का दिन आया और वो 2014 में देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में सपथ ग्रहण किया जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद के लिए सपथ ग्रहण कर रहे थे तो उस समय सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षो को आमंत्रित किया गया था । इस घटना को राजनीतिक की राजनयिक कूटनीति के रूप में देखा जा रहा था ।

आज भी गुंजता है यह नारा

हर हर मोदी घर घर मोदी। 2014 के चुनाव में यह नारा देश के हर तबके के व्यक्ति के मुख पर था चाहें वो व्यक्ति बूढ़ा हो या फिर बच्चा और शायद ऐसा पहली बार हुआ था की किसी नेता को इतने कम समय मे इतनी लोकप्रियता हासिल  हुई हो और कहीं न कहीं आज भी देश की जनता के मुख पर यह नारा रहता ही है।

भारत मे मोदी एक मात्र ऐसे नेता हैं जो फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर सबसे अधिक फोलो किये जाते हैं तो इसमे कोई दो राय नही है कि नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता देश के सभी पूर्व प्रधानमंत्री से अधिक है ।

 

 

194 total views, 1 views today

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://thenationfirst.in

One thought on “पीएम बनने से पहले मोदी कर चुके हैं ये बड़ा काम”

Leave a Reply