राजनीति

मिट्टी घोटाले पर मौन क्यों सुशासन बाबू ?

      अपने बेबाक अंदाज के लिए चर्चित राजद सुप्रीमो लालू यादव एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। इस बार इनका सुर्खियों में होने की वजह है मिट्टी घोटाला । बीजेपी के नेता और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने मिट्टी घोटाले का  आरोप लालू यादव पर लगाया है । सुशील कुमार का कहना है कि लालू यादव ने अपने बेटे के विभाग का  मिट्टी बिना टेंडर के 90 लाख रुपये में बेच दिया जो राज्य सरकार में मंत्री हैं

बीजेपी नेता का दावा है कि डिलाइट  मार्केटिंग कंपनी प्राईवेट लिमिटेड में लालू यादव के बेटे तेजप्रताप यादव , तेजस्वी यादव और चंदा यादव को 20 जून 2014 को निदेशक बनाया गया और इस कंपनी को 20 एकड़ ज़मीन दी गई इस जमीन पर एक बड़ा शॉपिंग मॉल बनाई जा रही है जिसका निर्माण राजद विधायक सैयद अबू दौजान की कंपनी कर रही है ।

उन्होंने आरोप लगाया कि इस निर्माणाधीन मॉल का सम्बंध लालू यादव के परिवार से है औरउन्होंने कहा की इस मॉल की मिट्टी को बिकवाने के लिए और सौन्दर्यीकरन  के नाम पर अनावश्यक रूप से 90 लाख रूपये का अनुमान पगडण्डी तैयार किया है और उसके अंडरग्राउंड फ्लोर की मिट्टी संजय गांधी जैविक उद्यान को 90 लाख रुपये में बेंची गई ।

सुशील मोदी का कहना है कि संजय गांधी जैविक उद्यान पर्यावरण एवं वन विभाग के अंतर्गत आता है जिसके मंत्री  तेजप्रताप यादव हैं और वो इस मिट्टी को बेंच कर 90 लाख की कमाई कर चुके हैं ।

साथ ही उन्होंने कहा कि जब लालू यादव मिट्टी घोटाले की जांच के लिए तैयार हैं तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार क्यों चुप हैं ।

23 total views, 1 views today

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://thenationfirst.in

Leave a Reply