जुर्म राजनीति

वार्ड सचिव चुनाव को लेकर वार्ड सदस्य दिखा रहें है अपना दबंगई

दरभंगा: पंचायत चुनाव के बाद एक बार फिर चुनावी माहौल ग्रामीण क्षेत्रों में है। जहां भी वार्ड समिति का गठन हो रहा है, वहां विवाद का साया पड़ रहा है। खास झिक-झिक वार्ड सचिव चुनाव को लेकर है। जगह-जगह आरोप लग रहें है कि वार्ड सदस्य मनमाना ढंग से सचिव का चुनाव कर रहे हैं, जो पंचायती राज अधिनियम के उल्लंघन जैसा है।

बहेड़ी प्रखंड के हथौड़ी दक्षणी पंचायत के वार्ड नंबर दस के ग्रामीण बबलू पोद्दार, रंजीत राय, विकाउ मांझी, नरेश, राय, ललिता देवी (स्वयंसहायता समूह), रेणु देवी, मीरा देवी सहित अन्य ने वार्ड विकास समिति के चयन को अवैध बताते हुए इसकी शिकायत बीडीओ से की है। इन्होंने द नेशन फर्स्ट से बातचीत में बताया कि हमारे वार्ड सदस्य शौरभ कुमार सिंह उर्फ़ (गोपाल सिंह) विकास समिति चयन को लेकर दबंगई दिखा रहें है और अवैध तरीकें से वार्ड नंबर दस के महादलित( हरिजन) टोला में आकर लोगों से अंगूठा एवं हस्ताक्षर करा रहें है और हम लोगों से कह रहें है की ‘विकास समिति का चयन हम करेंगे.. जनता मेरा क्या कर लेगा ? हम तो कागज पर हस्ताक्षर करवा ही लिए हैं कागज पर ही गोपनीय ढंग से बीडीओ को भेज देंगे जिसको जो करना है करें हम देख लेंगे वार्ड की जनता मेरा गवर्नर है मेरी मर्जी जिसे चाहें विकास समिति बनाए’ | हमलोगों ने इस घटना को पंचायत के मुखिया(मिथलेश देवी), सरपंच(रीता सिंह) तथा भूतपूर्व प्रखंड(चंद्रभूषण सिंह) के सामने भी रखा तो इनलोगों ने यही कहा की BDO से इसकी शिकायत करों हमलोग तुम्हारें साथ हैं बहरहाल, आरोप-प्रत्यारोप कहां तक सही है, यह जांच का विषय है। परंतु अगर, प्रशासनिक स्तर से इसकी निगरानी नहीं की गई तो विवाद फसाद का रूप ले सकता है।

इसे भी पढ़ें: लालू के नाम एक बिहारी का खुला ख़त

देखा जाय तो हर दिन हर पंचायत से इसके विवाद का मामला सामने आ रहा है। यह तो सिर्फ बानगी है, प्रति दिन जिला के विभिन्न कोने से वार्ड विकास समिति व वार्ड सचिव चुनाव को लेकर शिकायत प्रखंड से जिला अधिकारी तक पहुंच रहें है।

BDO को दिया गया लेटर

सात निश्चय योजना ने बढ़ाया लोभ

बिहार सरकार की महत्वाकांक्षी योजना सात निश्चय से वार्ड सदस्यों को जोड़ दिया गया है। वार्ड के अंतर्गत होने वाले कार्यों का जिम्मा वार्ड सदस्य पर होगा। वार्ड विकास समिति वार्ड में होने वाले निर्माण कार्य का देख-रेख करेंगे। विकास समिति का गठन आम सभा के माध्यम से होगा। विकास समिति में दो पद अति महत्वपूर्ण हो गया है। जिसमें पहला अध्यक्ष व दूसरा सचिव है। जानकारी के मुताबिक वार्ड विकास समिति का अध्यक्ष खुद वार्ड सदस्य ही होंगे। इसके अलावा पंच उपाध्यक्ष होंगे। जबकि तीन सदस्य का चुनाव भी होगा। तीन में से दो सदस्य महिला होगी। इसी तीन सदस्य में एक का चयन सचिव के लिए किया जाएगा। अलबत्ता, वार्ड सचिव चुनाव को लेकर मारा-मारी की स्थिति बनी हुई है। जानकारों की मानें तो वार्ड विकास समिति का एक संयुक्त खाता बैंक में खोला जाएगा। इसी खाते में योजनाओं की समस्त राशि आवंटित होगी। खाता में अध्यक्ष व सचिव का दस्तखत का प्रावधान है। इसी को लेकर सचिव चुनाव पर सभी की निगाहें टिकी हुई है। वार्ड सचिव का ‘चयन सरपंच, पंचायत मुखिया व वार्ड सदस्य के मुहर पर होना है। लिहाजा, मुखिया से लेकर सभी प्रतिनिधि इस पद के चुनाव पर अपनी निगाहें टिकाए बैठे हैं।

177 total views, 1 views today

Facebook Comments
TNF

The Nation First official

http://thenationfirst.in

Leave a Reply