इतिहास के पन्नों से

हमारे धर्मशास्त्र के कुछ छंदों के साथ यह साहित्यकार कर चुका है खिलवाड़

बात अगर भारतीय संस्कृति और उसके धरोहरों की करें तो शायद कोई भी ऐसा देश नही है जो हमारे देश की संस्कृति और धार्मिक गुणवत्ता को अपने देश के नागरिकों में समाहित करना न चाहता हो लेकिन जब कोई विदेशी व्यक्ति हमारे धरोहर और संस्कृति से खिलवाड़ करे तो शायद हम भारतीयों को ये  बिल्कुल […]

इतिहास के पन्नों से

कभी हिन्दू मुस्लिम एकता की बात करनें वाला यह व्यक्ति कर दी थी पाकिस्तान बनाने की मांग

भारत एक ऐसा देश है जहां जातिवाद और साम्प्रदायिकता को अगर कोई थोड़ा सा भी हवा दे तो यह आग पूरे कुनबे को खुद में समेटने में ज़रा सा भी देर नही लगाती और इसी आग को भारत की आजादी से पूर्व लगाया गया जिसकी खामियाजा आज तक भारत चुका रहा है और यहां के […]

इतिहास के पन्नों से

हिंदुस्तान का वो नेता जो चाहता था भारत हमेशा अंग्रेजी हुकूमत का गुलाम रहे

भारत मे लगभग सारे भारतीय अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ थे और उन्हें अपने देश से उन्हें बाहर निकलने की अथक प्रयास कर रहे थे हम सभी चाहते थे कि हमारे देश से अंग्रेज चले जाएं ताकि हमारे देश की जनता उनके शोषण नीति से मुक्त हो जाये और शोषण नीति से मुक्त करवाने के लिए […]

इतिहास के पन्नों से

जब अटल जी ने कलाम साहब से कहा था ‘पहली बार कुछ मांग रहा हूं मना मत कीजियेगा’

भारतीय राजनीति में बहुत एसे अनकहीं और अनसुने किस्से हैं जो बेहद ही रोचक और मार्मिक है लेकिन उनमें से  कम ही एसे किस्से होते हैं जिसे सुनकर आपका और हमारा उस राजनेता के प्रति आदर और सम्मान बढ़ जाता हो । आज हम भारतीय राजनीति के एसे ही दो युगपुरूष भारत के 10वें प्रधानमंत्री […]

इतिहास के पन्नों से

जब कलाम साहब ने स्पेशल गेस्ट के तौर पे एक मोची को बुलाया था

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम यानि एक ऐसे व्यक्ति जो वाकई में कमाल के थे आज कलाम साहब का पूण्यतिथि तिथि है आज ही के दिन यानि 27 जुलाई 2015 की शाम अब्दुल कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में ‘रहने योग्य ग्रह’ पर एक व्याख्यान दे रहे थे जब उन्हें जोरदार कार्डियक अरेस्ट (दिल का दौरा) […]

इतिहास के पन्नों से दुनिया देश

एक ऐसा हीरा जो भर सकता है दो दिनो तक पूरे विश्व का पेट

हीरा का नाम तो आप सबों ने सुना ही होगा और इसकी चाहत तो हम सभी को होगी ही ।कहा जाता है कि हीरे की चमक को हर कोई बर्दास्त नही कर सकता क्योंकि उसकी चमके के आगे अच्छे अच्छों की आंखे चोंधीया जाती है । अगर आप के हाथ एक ऐसा हीरा लग जाए […]

इतिहास के पन्नों से राजनीति

लालू के पार्टी से निकाला गया यह व्यक्ति 3 बार रह चुका है कर्नाटक का मुख्यमंत्री

5 जुलाई 1997 को जन्मी पार्टी आरजेडी एक तरफ अपनी   21वीं वर्षगांठ के जस्न मे डूबी  है तो दुसरी तरफ लोग उन्हें याद कर रहे हैं जिन्होंने पार्टी का नामकरण किया था । जी हां मैं बात कर रहा हुं आरजेडी के नेता रामकृष्ण हेगरे की  । जब जनता दल से अलग हो कर आरजेडी […]