जरा हट के देश

वीरता दिवस स्पेशल: जब CRPF के सिर्फ दो बटालियन ने हजारों पाकिस्तानी सेना को चटाया था धूल

9 अप्रैल एक ऐसा दिन जो भारत के लिए बेहद ही महत्वपूर्ण है। जिसे भारत के केंद्रीय रिर्जव पुलिस बल के जवान वीरता दिवस के रूप में मना रहे है। हम आपको बता दे कि 8 और 9 अप्रैल की मध्य रात्री को सन 1965 में पाकिस्तान सेना की 51 इनफ़ैट्री के तकरीबन 3500 सैनिको ने भारत सीमा के अदंर बनी सरदार चौकी पर धावा बोलने और उसे  कुचलने का अभियान चलाया। जिसकी सुरक्षा भारत के केंद्रीय रिर्जव पुलिस बल की 2 कंपनियों के द्वारा की जा रही थी।

जबकि केंद्रीय रिर्जव पुलिस बल की दोनों कंपनियां पाकिस्तान के हथियारों और ताकत के आगे कहीं नहीं थहरती थी। लेकिन सिर्फ अपने दृढ़ संकल्प और देश के प्रति समर्पण की भावना के कारण पूरी ताकत से लड़े। जिसमें पाकिस्तान के 34 सिपाही मारे गए और 4 को हमारे जवानों द्वारा जिंदा ही पकड़ लिया गया। इस दिन की लड़ाई से सीआईएसएफ ने ना ही केवल लोगो के मनों पर अपनी छाप छोड़ी। ब्लकि हर उस ब्लकि व्यकि के लिए एक अद्वितीय प्रेरणा के श्रोत बने जो सीआईएसएफ में शामिल होता है।

उसी दिन से इस दिन को केंद्रीय रिर्जव पुलिस बल के जवानों की वीरता को सम्मान देने के लिए वीरता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

603 total views, 6 views today

Facebook Comments

Leave a Reply