देश - दुनिया

बिहार दारोगा पेपर लीक पर जाँच आयोग का बड़ा फैसला, नहीं होगी परीक्षा रद्द

बिहार दारोगा परीक्षा पेपर लीक मामला शायद अब थम जाए क्योंकि बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग का कहना है कि प्रश्न पत्र परीक्षा होने के डेढ़ घंटे बाद वायरल हुआ था इस लिए दारोगा प्रारंभिक परीक्षा अब रद्द नही की जाएगी । BPSSC के चेयर मैन ने कहा है कि फेसबुक लिंक के आधार पर अभियार्थी अजित कुमार और अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

पेपर के दौरान ही इन्होंने प्रश्न पत्र को बाहर भेजा था इस लिए परीक्षा रद्द नहीं कि जाएगी । इस मामले की जांच कर रही पुलिस अवर निरीक्षक का कहना है कि प्रश्न पत्र के सोशल मीडिया पर वायरल होने की खबर को सही पाया गया है इसके लिए गया के रहने वाले अजीत कुमार और अन्य दोषी छात्रों के ऊपर मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है ।

वहीं इस मामले में RPS मोड़ स्थित आयोग कार्यालय के विशेष कार्य पदाधिकारी अशोक कुमार प्रसाद ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि प्रश्न पत्र लीक मामले की जांच कराई गई जिसमें पाया गया कि सोशल मीडिया पर प्रश्न पत्र के 2-3 सेट आंसर सीट के साथ वायरल हुआ था ।

उन्होंने कहा कि जांच के दौरान यह पुष्टि की गई की प्रश्न पत्र और ओएमआर सीट को इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के माध्यम से परीक्षा हॉल के बाहर भेजा गया था । अजित कुमार ने गया के किसान इंटर कालेज के प्रेतशिला सेंटर से एग्जाम के दौरान पेपर को लीक किया था । इसके अलावा दो और सेट की जांच की जा रही है जिसकी रिपोर्ट जल्द ही आ जायेगी ।

आशोक कुमार प्रसाद का कहना है कि परीक्षा केंद्रों की फ़ोटोग्राफी पहली बार कराई गई है छात्रों को किसी भी तरह का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण ले जाने की अनुमति नही थी ऐसे में आरोपित छात्र परीक्षा हॉल के अंदर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण कैसे ले कर चला गया इसकी जांच की जा रही है । साथ ही उन्होंने यह भी कहा उस जिला के छात्रों के लिए एग्जाम फिर से कन्डक्ट की जाएगी जो चुनाव क्षेत्र के मतदाता होने के कारण एग्जाम में शामिल नहीं हो पाए थे आयोग वैसे छात्रों की डेटा कलेक्ट कर रही है ।

ये भी पढ़ें : बिहार दरोगा पेपर लीक होने पर छात्रों के समर्थन में उतरे डॉक्टर एम रहमान

423 total views, 1 views today

Facebook Comments
Rahul Tiwari
युवा पत्रकार
http://thenationfirst.in

Leave a Reply